7cNews, UP election

वाराणसी : जहां का पान देश भर में मशहूर हो, जहां की साड़ी हर औरत पहनना चाहती हो, जहां की गलियों में भोले के भक्त बसते हों..ऐसा है गंगा की नगरी बनारस..लेकिन इसी बनारस की गलियों में होली से पहले सियासत के रंग उड़ रहे हैं..जी हां बनारस के लोग वोट का चोट देने के लिए तैयार हैं..आज यूपी चूनाव प्रचार का आखिरी दिन है..और 8 मार्च को पूर्वांचल 40 सीटों पर खड़े उम्मीदवारों की किस्मत EVM में कैद कर देंगे..और इसी के साथ लोकतंत्र का महापर्व खत्म हो जाएगा..और इंतजार रहेंगा तो बस प्रसाद का..जो 11 मार्च को मिलेगा……

  अब बात करते हैं पीएम की रैलियों की जो बनारस की गलियों में तीन दिनों से दहाड़ रहे हैं, अपनी ताकतों से पूर्वांचल के 40 सीटों को भेदने की तैयारी कर रहें है, पीएम की रैलियों मे उमड़ रहीं भीड़ बीजेपी और जीत का फासला कम करते नजर आ रही है, यहीं वजह है की बीजेपी अब यूपी मे सीएम उम्मीदवार ढूंढ़ रही है.. अगर सीएम कैंडिडेट की बात करें तो प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य, केंद्रीय मंत्री उमा भारती, रेलवे राज्य मंत्री  मनोज सिंहा, योगी आदित्यनाथ,  और राजनाथ सिंह प्रवल दावेदार हैं..

पीएम मोदी आज तीसरे दिन भी रोड शो कर रहें है तो वही सीएम अखिलेश यादव जौनपुर में सभा को संबोधित किया..पीएम रोड शो के दौरान लाल बहादूर शास्त्री की मूर्ती पर माल्यापर्ण किया..और शास्त्री जी के घर भी गए जहां लोगों ने पीएम का जोरदार स्वागत किया..तो दूसरी तरफ अखिलेश ने पीएम पर हमला बोलते हुए कहा की मोदी जी का दिल दिल्ली में नहीं लग रहा है   । अखिलेश ने कहा मोदी जी सिर्फ मन की बात करते हैं, कभी काम की बात क्यों नहीं करते । आगे बोला की पीएम मोदी ने तो बिजली को भी हिंदू और मुस्लिम में बांट दिया ।

तो वही कल पीएम ने रोड शो के बाद जनसभा को संबोधित किया और विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा हमारा नारा “सबका साथ सबका विकास है” जबकि उनका नारा ” कुछ लोगो का साथ और कुछ लोगो का विकास है” पीएम मोदी ने बिजली, भ्रष्टाचार सहित कई मुद्दों पर विपक्ष पर जमकर प्रहार किए । नोटबंदी पर बोलते हुए कहा कि 8 नवम्बर के बाद से कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी और सामजवादी तीनों एक हो गए । तमाम संभावनाएं काशिवासियों को दिखाया, लोकसभा चुनाव की तरह कल भी पीएम ने कई वायदें किए । लोकसभा में तो बनारस ने अपना सब कुछ मोजी जी को सौंप दिया, लेकिन विधानसभा में क्या करेंगे 11 को पता चलेंगे..

 विकास का दावा कर रहें अखिलेश ने कितना विकास किया हैं ये तो जनता तय करेगी..लेकिन तमाम राजनीतिक पार्टियों द्वारा किए हुए वादें कब पूरे होंगे वक्त बताएगा.. लेकिन पूर्वांचल के 40 सिटों के लिए बनारस ही क्यों राजनीतिक पार्टियां के निशान पर है.. अपको बता दें कि 2012 विधानसभा चुनाव में सपा को बहुमत मिला था, तो 2014 लोकसभा में BJP को बहुमत मिला था..और पीएम मोदी भी बनारस से ही सांसद बनें…ऐसे में पीएम अपने शाख की लड़ाई लड़ रहें हैं तो सपा जीत दोहराना चाहती है……

Advertisements